इंसानियत की कहानी, small story in hindi

By | 08/08/2017

small story in hindi

इंसानियत की कहानी

small story.jpg

small story in hindi

small story in hindi, राजीव जी हर सुबह अपने ऑफिस के लिए निकल जाते थे वो जब भी ऑफिस जाते थे तो हमेशा यही देखते थे उनके सामने एक फेरीवाला हमेशा कुछ फल बेचा करता था राजीव की नज़र उस फल वाले पर जरूर जाती थी फल बेचने वाले की उम्र भी काफी थी

 

एक दिन राजीव को आने में काफी समय हो गया था शायद आज राजीव लेट हो गए थे जब उनकी नज़र फल वाले पर गयी तो वो इतनी देर तक फल बेच रहा था राजीव जी उनके पास गए और पूछा की आप अभी तक यही पर है आज घर नहीं गए तो फल बेचने वाले ने कहा की आज उसकी पत्नी की तबियत खराब  है इसलिए सोच रहा हु जितने फल बिक जाए उतना अच्छा है.

 

राजीव ने जब यह बात सुनी तो उसे बहुत दुःख हुआ और राजीव ने कुछ पैसे उस फल बेचने वाले को दिया और कहा की जब आपकी पत्नी की तबियत  अच्छी हो जायेगी तब दे देना. यह कहकर राजीव अपने रूम पर चले गए यह बात राजीव ने अपनी पत्नी को बताई और कहा की हमे हमेशा दुसरो की मदद करनी चाहिए

 

अगले दिन जब राजीव अपने ऑफिस जाने के तैयार हुआ तो देखा की आज फल बेचने वाला नहीं आया था राजीव को इस बात की चिंता होने होने लगी की शायद उसकी पत्नी की तबियत ठीक है या नहीं यही सोचता हुआ राजीव अपने ऑफिस चला गया

 

शाम को राजीव अपने घर आया तो देखा की अभी भी फल बेचने वाला नहीं आया था और राजीव अपने घर चला गया इस बात को दो दिन हो गए थे राजीव ने देखा तो फल बेचने वाला दिखाई दिया और राजीव ने कहा की अब तुम्हारी पत्नी की तबियत ठीक है

 

शायद राजीव की बात सुनकर उस बूढ़े की आँखों में आंसू आ गए बूढ़े आदमी ने कहा अगर आप मदद नहीं करते तो शायद मेरी पत्नी ठीक नहीं होती है इस पर राजीव ने कहा की हर इंसान को एक दूसरे की मदद जरूर करनी चाहिए तभी हम एक दूसरे का साथ दे पायंगे

 

इंसान का जन्म ही एक दूसरे की मदद करने के लिए ही हुआ है हम यहां पर कुछ ही समय रहते है अगर हम सब मिलजुल कर रहे तो कितना अच्छा है

Read More-कुछ ऐसी जगह

small story in hindi, राजीव की बात सुनकर उस बूढ़े आदमी को लगा की शायद ही आप जैसा इंसान दूसरा कोई हो क्योकि आज तो हर आदमी अपने लिए ही जीता है दुरो की परवाह बिलकुल भी नहीं करता है राजीव ने कहा ऐसा ही नहीं बहुत से ऐसे इंसान है जो दुसरो की मदद जरूर करते है, दोस्तों हमे भी राजीव जैसी सोच रखनी चाहिए अगर आपको यह कहानी पसंद आयी हो तो आगे भी शेयर जरूर करे.

Related Posts:-

Read More-Two brothers story in English

Read More-Magical object small stories in english

Read More-The king and a poor man story for english

Read More-Ramesh’s Business story english

Read More-Suspense habit story for english

Read More-Who is the strongest new story in english

Read More-Who is the most gentle story in english

Read More-Boys village story in english

Read More-Sky and earth free english short stories

Read More-who is the best small stories to read

Read More-Diamond or stone story in english language

Read More-Rain that night simple short story

Read More-Pickle seller story in english

Read More-Friendship promise,friendship short stories

Read More-Waiting for god, real stories of god

Read More-Story of magician

Read More-Speaking mountain, any short story

Read More-Greed Of Gold, two friends story

Read More-Old women’s life, true sad stories

Read More-Learning Of Ramu, read a story

Read More-suresh’s hard work, story short english

Read More-Do not get angry, story of english

Read More-Listen to everything, funny english stories

Read More-Village thief story,mini stories in english

Read More-River Bank Story, river story

Read More-The banyan tree inspiration stories

Read More-Own advantage stories with morals

Read More-Old lady’s servant, old lady stories

Read More-Test of god story with moral in english

Read More-Live in today,small moral stories in english

Read More-Plant Story, Moral English Stories

Read More-Sadness in life, stories read online

Read More-Pandit’s problem, little story in english

4 thoughts on “इंसानियत की कहानी, small story in hindi

  1. Pingback: दूसरों की बात, hindi moral stories | Apnisoch.Com

  2. Pingback: सूर्य पूजा कैसे करे, surya pooja | Apnisoch.Com

  3. Pingback: ज्ञान की बातें, kahaniya hindi | Apnisoch.Com

  4. Pingback: दाड़ी के एक बाल से बनाई पेंटिंग, gazab post | Apnisoch.Com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...