कुछ ऐसी जगह, ghost stories in hindi

ghost stories in hindi

कुछ ऐसी जगह

ghost stories.jpg

ghost stories in hindi

ghost stories in hindi, घूमना शायद सभी को पसंद होता है पर कभी कभी बहुत सी ऐसी जगह है जिस जगहों पर घूमना भारी भी पड़ सकता है जब कुछ दोस्त बहुत साल बाद मिले तो तो उन्होंने घूमने जाने के लिए प्लान किया पर कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था की कहा पर चला जाए.

 

उनमे से रमेश ने कहा की हमे संजय के गांव में घूमने जाने के लिए प्लान तैयार करना चाहिए सभी दोस्त तैयार हो गए और एक बस ले ली जिसमे बैठकर जाने के लिए सभी तैयार थे संजय के गांव में जाने के शाम का वक़्त चुना गया और बस रात 8  बजे आ गयी, सभी लोग बस में बैठ गए और सुबह तक बस संजय के गांव में पहुंच  जाती.

 

बस को चले सात घंटे हो चुके थे जब ड्राइवर ने देखा की आगे जाम लगा हुआ है तो उसने बस को एक कच्चे रास्ते पर ले जाने लगा ये कच्चा रास्ता आगे चलकर मैं रोड पर मिल जाता है ड्राइवर बस चला रहा था तभी बस का टायर अचानक दब गया.

 

ड्राइवर ने बस को रोक दिया और निचे उतर कर देखा तो टायर फैट चूका था ड्राइवर ने कहा की टायर बदलने में काफी समय लग जाएगा तुम चाहो तो अंदर बैठ जाओ या यहां पर टहल लो. संजय ने कहा की इतनी रात को बहार जाना ठीक नहीं है सभी अंदर बैठ जाओ

 

पर रमेश ने कहा की यहां पर ऐसी कोई भी डरावनी चीज नहीं है तुम चाहो तो अंदर बैठ जाओ में तो घूम कर आता हु, रमेश थोड़ी दूरी पर आया और उसने किसी को एक पेड़ के नीचे बैठा देखा.

 

रमेश को कुछ साफ़ दिखाई नहीं दे रहा था फिर वो थोड़ा आगे गया तो देखा की पेड़ के नीचे कोई औरत बैठी है और वह रो रही है रमेश ने सोचा की उसको किसी की मदद की जरूरत होगी इसलिए रो रही है रमेश ने पूछा की तुम कौन हो और यहां पर क्या कर रही हो पर उसने सिर्फ इतना ही कहा की मुझे भी अपने साथ ले चलो    

 

रमेश को वासे तो डर नहीं लगता है पर उसकी बात सुनकर थोड़ा डर भी लगा और उसने हिम्मत करके पूछा की तुम यहां पर किसी आयी और उस औरत ने बताया की में यहां पर बहुत सालो से हू पर मुझे कोई नहीं सुन पाता. तुम मुझे देख और सुन सकते है इसलिए तुम मुझे अपने साथ ले चलो

 

बस इतना सुन्ना था और रमेश वह से भागा जो कभी डरता नहीं था उसे आज डर का एहसास हुआ बस भी चलने को तैयार हो चुकी थी रमेश बस में चढ़ा और बस वह से चल पड़ी रमेश ने ये बात सभी को बताई पर किसी को भी विस्वास नहीं हुआ विस्वास होता भी कैसे इस जंगल में कोई नहीं रहता क्योकि इसके आस-पास कोई भी आबादी नहीं रही थी.

 

ghost stories in hindi, दोस्तों घूमने जाना है तो कभी भी ऐसी जगहों पर न घूमे जहा पर कोई न हो पता नहीं कौन कहा पर किसका इंतज़ार कर रहा है अगर यह जानकारी आपको पसंद आयी हो तो आगे भी शेयर जरूर करे.

Related Posts:-

Read More-Sadness in life

Read More-Pandit’s problem

Read More-Plant Story

Read More-Live in today

Read More-River Bank Story

Read More-Ghost Room

Leave a Reply